Friday, December 25, 2009

मुझे जल्दी से अच्छा कर दो सांता क्लॉस....

मेरे प्यारे ईशु आपको अपने प्यारे आदित्य की ओर से बहुत बहुत प्यार.....
प्यारे सांता क्लॉस,...... मुझे जल्दी से अच्छा कर दो! ना...
सब कहते हैं झटके से मेरे दिमाग पर असर पड़ा है मुझे १ साल होने को है मै अभी तक बैठ भी नहीं पाता हूँ बोल भी नहीं पाता , मेरे उम्र के बच्चें चलना सीख रहे हैं उन्हें देख कर मेरी मम्मी निराश होजाती है फिर कहीं से हिम्मत बटोर कर मेरी देखभाल करती है ...
सांता क्लॉस मेरी मम्मी को भी हिम्मत देना क्योंकि वही तो मेरी हिम्मत हैं ....
मै जल्दी से ठीक होकर बच्चों के लिए बहुत कुछ करना चाहता हूँ....
मै अपने मम्मी - पापा दोनों को बहुत खुश देखना चाहता हूँ ...
प्यारे सांता क्लॉस मैंने सुना है की आप बच्चों से बहुत प्यार करते हो और उनकी हर इच्छा को पूरी करते हो .....मुझे जल्दी से अच्छा कर दोगे ना!
फिर मै तुम जैसा ही बन कर बच्चों को बहुत सारा प्यार करूँगा और खुश रखूँगा .....

7 comments:

  1. हिंदी चिट्ठाकारी की सरस और रहस्यमई दुनिया में वैकल्पिक मीडिया का प्रतिनिधि "जनोक्ति परिवार "आपके इस सुन्दर चिट्ठे का स्वागत करता है . . चिट्ठे की सार्थकता को बनाये रखें . आप हमारे ब्लॉग अग्रीगेटर पर भी पंजीयन कर सकते हैं . नीचे लिंक दिए गये हैं .
    http://www.janokti.com/ , http://www.blogprahari.com

    ReplyDelete
  2. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    ReplyDelete
  3. इस नए ब्‍लॉग के साथ आपका हिन्‍दी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. आपसे बहुत उम्‍मीद रहेगी हमें .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  4. नमस्कार,
    चिट्ठा जगत में आपका स्वागत है.
    लिखते रहें!

    [उल्टा तीर]

    ReplyDelete

हम आपके सुझावों और संदेशों का तहे दिल से स्वागत करते हैं कृपया हम बच्चों का मार्गदर्शन और उत्साहवर्धन करें . आप सभी का हमारे ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद .