Tuesday, February 16, 2010

अनन्या दीदी..



Welcome! welcome! अनन्या दीदी....बच्चों की दुनिया में आपका स्वागत है....

दीदी आपसे भी यही प्रश्न है कि आपको आपका स्कूल कैसा लगता है और यदि आप teacher होती तो बच्चों को कैसे पढ़ाती?

मैं,

मैं क्या होती?

हैं?

हाँ?

क्या होती है ?

मैं teacher होती तो कैसे अच्छा लगता है?

मैं teacher होती तो कैसे अच्छा लगता है?

हूँ?

मेरी दो mam है क्या होता है?

shit!

वहाँ पे दो बच्चे हैं।

वहाँ पे दो mam हैTeacher पढ़ाती है।

क्या?

मैं इन्द्रापुरम में पढ़ती हूँ मेरे स्कूल का नाम Little Sanskar है।

वहाँ पर दो mam है।

वहाँ पर ३ बच्चे हैं वहाँ पर mam पढ़ाती है Painting करवाती है।

खाने को भी देती है। बस मेगी भी देती है।

मैं अगर Teacher होती तो बच्चों को प्यार से पढ़ाती और उन्हें चोकक्लेट,चिप्स और मिठाई देती। मुझे मेरा स्कूल अच्छा लगता है। mam भी अच्छी है। मेरा school Indrapuram में है।

हा हा हा ......कितने प्यारे विचार हैं आपके।
आपके student तो आपसे जरूर खुश हो जायेंगे। आप तरक्की के मार्ग पर अग्रसर रहें यही ईश्वर से प्रार्थना है।

5 comments:

संजय भास्कर said...

Welcome! welcome! अनन्या

संजय भास्कर said...

VERY NICE...

Mithilesh dubey said...

बहुत सुन्दर ।

manav vikash vigyan aur adytam said...

bchcho ke doniya kafi achha hai apana bachpan yad aagaya

manav vikash vigyan aur adytam said...

aap ka sandesh mila isake liye danyavaad